Ae Dil Hai Mushkil MNS issues veiled Threat to multiplexes after meeting with Raj Thackrey

हे भगवान जाने क्या होगा करन जौहर की ‘ऐ दिल है मुश्किल’ का।

करन जौहर की ‘ऐ दिल है मुस्किल’ की मुश्किलें तो जैसे खत्म ही नहीं हो रही। अभी कल जी करन जौहर ने एक वीडिओ वायरल करके खुदको सबसे बड़ा देशभक्त होने दावा किया है और आज फिर से महाराष्ट्र की मनसे पार्टी ने मल्टीप्लेक्स थियेटरों को धमकी दे डाली है, कि अगर उन्होंने ‘ऐ दिल है मुश्किल’ रिलीज की तो थियेटर के शीशे तोड़ देंगे। मनसे पार्टी ने ये भी कहा है कि, मल्टीप्लेक्स के शीशे बड़े महंगे होते है।

मनसे पार्टी के अंतर्गत आने वाले चित्रपट सेना के अध्यक्ष अमेय खोपकर में मल्टीप्लेक्स के ओवनरों को ये धमकी दी है। गौरतलब है कि  उरी में हुए आतंकी हमले के बाद ही मामला इतना बढ़ गया है कि, शिवसेना उअर मनसे पार्टी ने भारत में काम करने वाले पाकिस्तानी कलाकरों का जीना दुशुवार कर रखा है। इन राजनितिक पार्टियों ने पाकिस्तानी कलाकारों को अपने देश पाकिस्तान लौट जाने की धमकी दी। धमकी से डरकर फवाद खान जैसे कुछ कलाकार अपने वतन पाकिस्तान लौट भी गए।

बतादे कि, उरी में हमले में 18 जवान शहीद हुए थे, तब से पाकिस्तानी कलाकरों के लिए परेशानी खडी होनी शरू हो गई। करन जौहर की फिल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ को मनसे पार्टी का उपद्रव इसलिए झेलना पड़ रहा है क्युकी इसमें पाकिस्तान के कलाकार फवाद खान ने एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। मनसे पार्टी करन जौहर के खिलाफ या उनकी फिल्म के खिलाफ नहीं है बल्कि फवाद खान के खिलाफ है। पार्टी का कहना है कि फवाद खान के अभिनय को ‘ऐ दिल है मुश्किल’ से हटाया जाए लेकिन फिल्म बन कर पुरी तरह तैयार हो चुकी है इसलिए फवाद खान को करन जौहर द्वारा हटाना नामुमकिन है। आलम ये है कि, इन सब का खामियाजा ‘ऐ दिल है मुश्किल’ के रिलीजिंग को भुगतना पड़ रहा है।

हालाकि मुंबई पुलिस ने ये हामी भरी है कि, वे ‘ऐ दिल है मुश्किल’ से जुड़े सभी तत्वों को सुरक्षा देंगे, फिर भी डर का माहौल ज़रूर बना हुआ है।