Blackbuck poaching case: Salman Khan’s troubles are likely to increase again, Rajasthan government challenging  in Supreme Court

बॉलीवुड के दबंग सलमान खान और विवादों का नाता जैसे चोली दामन का है। चिंकारा शिकार मामला सलमान खान की जिंदगी के बड़े विवादों में से एक है। इस मामले में सलमान खान को रहत मिल गई थी लेकिन अब एक बार फिर सलमान की मुश्किलें बढती नज़र आ रही हैं।सलमान को हाईकोर्ट द्वारा बरी किए जाने को राजस्थान सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है, और कोर्ट से कहा है कि वह सलमान को सरेंडर करने के लिए कहें।

राजस्थान सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि हाईकोर्ट के फैसले पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाकर सुप्रीम कोर्ट सलमान खान को सेरेंडर करने के आदेश दे ताकि वह बाकी सजा काट सकें। साथ ही राजस्थान सरकार ने यह भी कहा है कि, अब सुप्रीम कोर्ट में सलमान खान के खिलाफ ड्राईवर दुलानी के बयान को मंजूर किया जाए।राजस्थान हाईकोर्ट ने दोनों निचली अदालतों की सहमति से सलमान खान को पांच साल की सजा के फैसले को रद्द करने में गलती की है।राजस्थान सरकार ने यह भी कहा है कि, सलमान खान को निचली अदालत ने दोषी पाया था, लेकिन हाईकोर्ट ने अति तकनीकी आधार पर फैसला दिया, जो कानून में कहीं नहीं ठहरता। [इसे भी पढ़ें:सलमान खान की शादी 27 मई 1994 को ही हो जाती गर ऐन वक्त पर दुल्हन मुकर ना जाती]

बता दें कि, चिंकारा शिकार मामले का गवाह हरीश दुलानी जैसे ही सामने आया तो राजस्थान सरकार ने ऐलान किया था कि वह इस मामले में जोधपुर हाईकोर्ट के सलमान को बरी करने के आदेश को चुनौती ज़रूर देगी।इसके अलावा हरीश दुलानी की सुरक्षा का ज़िम्मा भी सरकार ने लिया था। दुलानी ने सामने आकर बताया था कि सलमान ने ही चिंकारा पर गोली चलाई थी। और गाडी से उतरकर गला भी काटा था।

बाद में दुलानी ने पिता को धमकियां मिलने कि बात कहकर जोधपुर छोड़कर पास के इलाके में चला गया था। दुलानी ने कहा था की उसे पुलिस सिक्योरिटी मिले तो वो अपना बयान देगा।[इसे भी पढ़ें:OMG!!! सलमान खान और ऐश्वर्या राय के ब्रेकअप की दास्तां जानकर आपकी रूह कांप जाएगी]

बता दें की 1998 में सलमान खान पर आरोप लगा था कि उन्होंने चिंकारा का शिकार किया है। 2006 में सलमान खान को चिंकारा मामले में निचली अदालत ने पांच साल की सजा सुनाई थी। सलमान ने 1 हफ्ता जेल में बिताया था पर बादमे सलमान को बेल मिल गई थी।