drunk Sanjay Dutt makes fun of Ranbir Kapoor’s ‘un-macho’ films

संजय दत्त जब से जेल से छुटे हैं तब से उनके बायोपिक को लेकर ख़बरें काफी गर्म हैं। संजय दत्त पर बन रही बायोपिक में रणबीर कपूर संजय दत्त के रोल में नज़र आने वाले हैं लेकिन यह क्या संजय दत्त ने अपनी ही कहानी पर बन रहे हीरो को भरी महफ़िल में मजाक उड़ा डाला। जी हाँ! डीएनए अखबार ने संजय दत्त की ख़ास पार्टी के एक वाकये को शेयर किया हैं।  हम उस रात के किस्से को आप सभी से शेयर करना चाहते हैं की किस तरह संजू बाबा रणबीर कपूर के करियर गुरु बन गए।  [इसे भी पढ़ें : शाहरुख़ और ‘खिलाडी’ अक्षय कुमार की होगी बॉक्स ऑफिस पर भिड़त, ‘क्रैक को टक्कर देगी ‘द रिंग’]

sanjay-and-ranbir

बात उन दिनों की हैं जब रणबीर कपूर, राजकुमार हिरानी और डेविड धवन संजय दत्त के घर पर पार्टी कर रहे थे। संजय दत्त की पार्टी हो और शराब ना हो ऐसा हो ही नहीं सकता। इस पार्टी में रणबीर कपूर ही ऐसे शख्स थे जिन्होंने शराब को हाथ नहीं लगाया था। रणबीर क उन दिनों संजय के घर आना जाना हैं। वो संजय दत्त की पर्सनालिटी से काफी प्रभावित थे। दत्त ने उन्हें सीधे-सीधे पूछ ही लिया कि “मुझे एक फिल्म को प्रोड्यूस करना हैं जिसमे हीरो होंगे तुम लेकिन फिल्म का नाम होगा ‘लद्दू’। रणबीर ने भी कहा हाँ अगर हम इमरती, जलेबी और पैडा जैसी फ़िल्में बनाते हैं तो हम  ‘लद्दू’ को क्यों नहीं बना सकते हैं। पुरे घर में जैसे एक तरह का सन्नाटा छा गया। संजू बाबा उस वक़्त काफी शराब पी चुके थे उन्होंने रणबीर को कहा कि मैंने तुम्हारी फिल्म बर्फी देखी हैं! तुम कैसे इस तरह की फिल्मों में काम कर सकते हो और उन्हें गन्दी गालियाँ देने लगे। संजय ने कहा मुझे पता नहीं कैसे उन्होंने तुम्हे कास्ट कर लिया।”  [इसे भी पढ़ें : ‘मोहरा गर्ल’ रवीना ने आत्महत्या करने वाले सितारों की मानसिकता को किया उजागर]

संजय ने कहा कि “तुम्हे माचो फिल्मों में काम करना चाहिए। तुम बर्फी जैसी फ़िल्में ना करो तो अच्छा हैं। आपके हाथों में गन होनी चाहिए और आप एक्शन फिल्मों में अपना करियर बनाओ। आपको नहीं लगता की सलमान और अजय क्यों इंडस्ट्री में इतना साल टिके हैं। उन्होंने फिल्मों में  माचो फ़िल्में की हैं। मासेस को यही फ़िल्में पसंद हैं।” संजू ने उन्हें एक लम्बा चौड़ा ज्ञान दिया लेकिन संजू की बात को तवज्जो न देकर उन्होंने लीग से हटकर ही फ़िल्में शुरू कर दी। दत्त की बातों को बीच में काटने के लिए मान्यता वहा आ गयी और उन्होंने डिनर का सभी को न्योता दिया।