Mira Rajput’s batchmate give us SHOCKING details about her character on social media

इंटरनेशनल विमेंस डे के मौके पर एक्टर शाहिद कपूर की पत्नी मीरा राजपूत ने एक विवादित बयान दे दिया ज्सिके काह्लते अब हर कोई उनपर अपना निशाना साध रहा है। उन्होंने एक अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा कि बॉलीवुड में  अब नारीवाद की लहर आ चुकी है। ‘फेमेनाजी’ शब्द बॉलीवुड में काफी पॉपुलर हो चूका है, जिसका मतलब औरतो से जोड़ा जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि “मैं एक हाउसवाइफ हूँ और मुझे इस बात का गर्व हैं कि मैं घर पर बैठकर मेरी बेटी का ख्याल रखती हूँ। मिशा होने से पहले मुझे प्रेगनेंसी में काफी परेशानी हुई थी लेकिन अब मैं अपनी बेटी के साथ घर बैठकर उसका ख्याल रखती हूँ।”  मीरा ने यह तक भी कहा कि “उन्हें इस बात की कोई टेंशन नहीं हैं कि उनके पास बेटी के साथ समय बिताने के लिए बस एक घंटा है। वो कोई पपी नहीं हैं जिसके साथ सिर्फ एक घंटा बिताना छाती हूँ। मैं उसे अपना पूरा वक़्त दे सकती हूँ। मीरा ने कहा की फुल टाइम हाउस वाइफ बनना यह उनका इंडिविजुअल निर्णय था।  मीरा की माने तो यह उनका ही फैसला था कि वो घर पर बैठकर मिशा का ख्याल रखें। यह मेरी चॉइस थी और मैं इसे खुलकर एन्जॉय भी कर रही हूँ। एक वर्किंग मदर के पास भी उसकी अपनी चॉइस होती है, इसके लिए न तो किसी हाउसवाइफ या न ही किसी वर्किंग मदर को कभी भी इस बात पर शर्मिंदा महसूस नहीं करना चाहिए।”  मीरा के इस बयान में अब उन्ही की एल क्लास मेट ने उन्हें एक ओपन लैटर लिखा हैं। [इसे भी पढ़ें: रणवीर सिंह को चेहरे पर आई चोट, पड़ी सर्जरी की जरुरत !]

शाहिद कपूर की पत्नी मीरा राजपूत की कॉलेज की एक बैचमेट ने फेसबुक पर एक ओपन लेटर लिखा है, जिसमें उन्होंने मीरा द्वारा कही गे की फेमिनिज्म पर कही बातों पर उन्हें काफी खरी खोटी सुनाई है। इतना ही नहीं उन्होंने तो यह तक खुलासा  किया है कि मीरा उन लड़कियों में से रही हैं जो दूसरों को उनकी ड्रेस के आधार पर जज किया करती थी। मीरा की इस बात से कि कि मीशा कोई पपी नहीं है। मैं वर्किंग वुमन्स की तरह नहीं, बल्कि खुद घर में रहकर उनकी देखभाल करती हूँ।