Reality Of Box Office Collection: Do you know what are the barometers for a hit or a flop films

हर हफ्ते ट्रेड पंडित फिल्मों को लेकर अपने-अपने फैसले सुनाते हैं और यह ऐलान करते है कि इस हफ्ते रिलीज हुई फिल्म हिट रही या फ्लॉप। हाल ही में बॉक्स ऑफिस पर हुए काबिल और रईस के क्लैश को सफल माना गया था और ट्रेड पंडितों ने दोनों ही फिल्मों को हिट करार दिया था। लेकिन क्या जो आंकड़े ट्रेड पंडितों द्वारा बताये जाते हैं उन पर भरोसा किया जा सकता है ? आंकड़ें कितने सही होते है ? इसी पर बात की हमने इंडस्ट्री के फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर अक्षय राठी से और उन्होंने हमें कई चौंकाने वाले जवाब दिए हैं।

प्रश्न: अक्षय आज के समय में किसी भी फिल्म को हिट या फ्लॉप मानने का पैमाना क्या होता है ?
उत्तर: अगर आप सही में फिल्म में फिल्म के हिट और फ्लॉप की बारे में जानना चाहते हैं और इसके लिए आप आकंड़ों को अपना पैमाना मानते हैं तो यह बहुत ही सरल है। सचिए अगर कोई फिल्म 10 करोड़ में बनकर तैयार हुआ है और उसकी पब्लिसिटी और एडवर्टाइज़िंग में 5 करोड़ का खर्चा आया है। तो आपकी कमाई 15 करोड़ से ऊपर होनी चाहिए। मतलब आपका रिवेन्यू आपके इन्वेस्टमेंट से ज्यादा होना चाहिए, तो आपकी फिल्म हिट मानी जायेगी।

प्रश्न: तो आज के वक्त में कौन सी फिल्म कमाऊ है?
उत्तर: जो फिल्म अपनी लागत से ज्यादा रुपये कमाकर दे वो फिल्म कमाऊ फिल्म होगी।

प्रश्न: क्या आपको लगता है कि अगर फिल्मी आंकड़ों के लिए किसी थर्ड पार्टी कम्पनी की मदद ली जाए तो हमें सही आंकड़े मिल सकते हैं और बॉक्स ऑफिस कमाई के मामले में ज्यादा ट्रांसपैरेंसी आयेगी?
उत्तर: हां इससे मदद मिल सकती हैं लेकिन प्रोड्यूसर्स ऐसी कोई ट्रांसपेरेंसी लाना ही नहीं चाहते है। वो लोग खुद चाहते है कि बकवास फिल्में बॉक्स ऑफिस हिट करार दी जायें। अगर आप सही मानें तो इसका कारण इगो है। जिस कारण फिल्मों के सही आंकड़े सामने नहीं आते हैं। यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है।

इसके अलावा एक चीज जो मुझे आजकल सबसे ज्यादा खराब लगती है वो यह कि हर किसी को बॉक्स ऑफिस कमाई जानने की जल्दी रहती है। बॉक्स ऑफिस के आंकड़े प्रोड्यूसर के लिए बने हैं न कि किसी दर्शक के लिए। दर्शक के लिए फिल्म महत्वपूर्ण होनी चाहिए न कि बॉक्स ऑफिस के आंकड़ें। अगर आप शाहरुख खान, सलमान खान, अक्षय कुमार, आमिर खान या ऋतिक रोशन के फैन हैं तो फिल्म देखने थियेटर मे जायें, फिल्मों के आंकड़े जानकर क्या करेंगे। सच तो यह है कि बॉक्स ऑफिस के नम्बर्स से फर्क सिर्फ फिल्म के प्रोड्यूसर, इसके डिस्ट्रीब्यूटर और एक्ज़ीबिटर को पड़ना चाहिए। उनको सच का सामना करने दें।

प्रश्न: क्या इन गलत आकंड़ो की वजह से फिल्म इंडस्ट्री भी प्रभावित होती है?
उत्तर: इस तरह के गलत आंकड़ें पेश करके फिल्म प्रोड्यूसर्स अपना ही मुकसान करते हैं। वो लोग फिल्मी सितारों को यह यकीन दिलाते है कि उनकी फिल्में हिट साबित रही हैं। अब आप जितना किसी स्टार की फिल्म को हिट बतायेंगे, लोग उसके पीछे उतना ही भागेंगे। ताकि वो उनकी फिल्मों में भी काम कर लें और फिर स्टार्स ऐसी रकम लेते हैं जिस पर आप भरोसा भी नहीं कर सकते। जिस स्टार की फिल्म पहले दिन 5 करोड़ से ज्यादा का बिजनेस नहीं करती है उसे 10 करोड़ से ज्यादा नहीं मिलना चाहिए लेकिन दर्भाग्यवश सच्चाई कुछ और ही है।

यह बॉलीवुड की बॉक्स ऑफिस आंकड़ों की सच्चाई वाली रिपोर्ट की दूसरी कड़ी है। पहली कड़ी को आपने खूब पसंद किया था। हम जल्द ही तीसरी कड़ी के साथ आपके सामने आयेंगे लेकिन उससे पहले आफ हमें कमेंट करके यह जरुर बतायें कि आपको यह कड़ी कैसी लगी?