सिलसिला बदलते रिश्तों का: धीरे-धीरे रुहान की ओर खींची चली जाएगी मिष्टी, कुणाल के नक्शेकदम पर चलकर देगी वीर को धोखा?

क्या रुहान की वजह से वीर से नाता तोड़ देगी मिष्टी ?